द ब्लाइंड रिलीफ एसोसिएशन नागपुर (T.B.R.A.N.)

TBRAN Hindi    20-Jun-2019
द ब्लाइंड रिलीफ एसोसिएशन नागपुर (T.B.R.A.N.) की स्थापना १९२८ में "दिव्यांगों की सहायता" हेतु की गई थी | अपने संस्थापक श्री. रावसाहेब वामनराव वाडेगांवकर की दिखाई राह पर यह संस्था गत ८५ वर्षों से दृष्टिहीनों (दृष्टी दिव्यांगों) की प्रगति और विकास का कार्य कर रही है |
 
संस्था का प्रमुख लक्ष्य एवं उद्देश्य दृष्टिहीनों के जीवन में आशा की किरण लाना है। संस्था न केवल इन दिव्यांगों के ज्ञान को समृद्ध करते हुए उन्हें एक सार्थक जीवन देने में और समाज में उनकी प्रतिष्ठा सुनिश्चित करने में कार्यरत है बल्कि उनके आत्म-सम्मान और आत्मविश्वास को भी विकसित करने के लिए कड़ी मेहनत कर रही है। स्वर्गीय श्री वामनराव वाडेगांवकर स्वयं दृष्टिहीन होते हुए जीवन के हर क्षेत्र में विशेष परिज्ञान एवं गहरी अंतर्दृष्टि रखते थे । उनकी यह संस्था दृष्टिहीनों के लिए समाज में आत्मनिर्भरता और प्रतिष्ठा की राह का मानो प्रवेशद्वार ही साबित हुई | अनन्यसाधारण उत्साह के साथ कार्य करते हुए उन्होंने अपना संपूर्ण जीवन ही दृष्टिहीनों के उत्थान के लिए समर्पित कर दिया |
द ब्लाइंड रिलीफ एसोसिएशन नागपुर (T.B.R.A.N.) – सामाजिक तथा आर्थिक रूप से वंचित दृष्टिहीन कर्मियों के लिए सक्रिय एवं सार्थक जीवन जीने के साधन खोजने में विशेष रूप से प्रयासशील है जिससे वह उन्हें एक सम्मानजनक आजीविका कमाने के लिए सक्षम बना सके।
संस्था का मुख्य हेतू से दृष्टिहीनों की मूलभूत आवश्यकताओं एवं आकांक्षाओं को पूरा करना है। संस्था सभी विद्यार्थियों को निम्नलिखित सुविधाएं नि: शुल्क प्रदान करती है ।
 
अ ) ७ से १४ वर्ष की आयु के बच्चों के लिए सह-शिक्षा पद्धति से पहली से सातवीं कक्षा तक की औपचारिक प्राथमिक शिक्षा।
ब ) सामान्य दृष्टि वाले बच्चों के साथ मिलने-जुलने का अवसर प्रदान करते हुए सह-शिक्षा पद्धति में आठवीं से दसवीं कक्षा तक की एकीकृत शिक्षा |
 
संस्था द्वारा मुहैय्या कराई जाने वाली सुविधाओं में सभी विद्यार्थियों के लिए आवास, जलपान और भोजन के साथ-साथ स्वास्थ्य चिकित्सा भी शामिल है। इसके साथ छात्रों को मुफ्त यूनिफॉर्म, ब्रेल टेक्स्ट बुक्स, ब्रेल राइटिंग स्लेट्स, ब्रेल पेपर्स, मैथमेटिक्स स्लेट्स, स्पेशल टैक्चुअल रीडिंग एड्स, मैप्स, प्रतिकृतियां, अच्छी लाइब्रेरी, ऑडियो कैसेट, तथा टेप रिकार्डर भी उपलब्ध कराया जाता है। औपचारिक शिक्षा के अलावा, संस्था सांस्कृतिक कार्यक्रमों तथा खेल, संगीत, शिल्प और कई अन्य प्रतियोगिताओं में भाग लेकर छात्रों के सर्वांगीण विकास को प्रोत्साहित करती है। हॉस्टल में लगभग १३० छात्र एवं छात्राओं कि व्यवस्था की गई है |